जानें, हीन भावना कैसे आपका जीवन नष्ट करती है? – सफल और सुखी रहने के लिए बंद करें अपने को हीन समझना!

आपके हृदय – सरोवर में जिन शुभ या अशुभ विचारों , भद्र या अभद्र भावनाओं या उच्च अथवा निकृष्ट कल्पनाओ का प्रवाह चलता रहता है , वही अप्रत्यक्ष रूपसे आपके व्यक्तित्व का निर्माण करता रहता है । आपका एक – एक विचार, आपकी एक – एक आकांक्षा , एक – एक कल्पना वे दृढ़ आधारशिलाएँ हैं , जो धीरे – धीरे आपके गुप्त मनको बनाया करती हैं ।

Continue reading “जानें, हीन भावना कैसे आपका जीवन नष्ट करती है? – सफल और सुखी रहने के लिए बंद करें अपने को हीन समझना!”

Share This Post!